अंबिकापुर :-  3000 से अधिक अवैध नल कनेक्शन चढ़ा भ्रष्टाचार के हत्थे

 | 
1
अंबिकापुर शहर में 106 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले अमृत मिशन योजना के तहत 24 घंटे पेयजल सप्लाई के लिए लगाए जा रहे जल मीटर व सर्वे कार्य में अभी तक 3000 से अधिक अवैध नल कनेक्शन का खुलासा हुआ है। इस नल कनेक्शनों का ना तो कोई सर्विस नंबर है और ना ही निगम में कोई रिकॉर्ड पुराने पाइपलाइन में इस तरह की गड़बड़ियां सामने आई है। जिसमें नगर निगम को हर महीने चुना लगता रहा। इस खुलासे के बाद निगम प्रशासन द्वारा अब अवैध नल कनेक्शन को वैध करने की भी तैयारी शुरू कर दी गई है। बताया जा रहा है कि इस शहर में लगभग 28,000 नए व पुराने कनेक्शन में जल मीटर लगाए जाने की योजना है। जिसके तहत अभी तक 9,500 मीटर लगाया जा चुका है। जबकि 18,500 कनेक्शन में जल मीटर लगाया जाना अभी शेष है। नगर निगम के जल शाखा के कर्मचारियों के द्वारा जल मीटर के लिए नए व पुराने कनेक्शन का सर्वे किया जा रहा है बताया जा रहा है कि अधिकांश लोग द्वारा जल कनेक्शन का सर्विस नंबर व अन्य दस्तावेज नहीं दिए जाने के कारण निगम को परेशानी भी हो रही है। निगम द्वारा निर्माण एजेंसी को अक्टूबर माह तक से सप्लाई शेष पाइप लाइन विस्तार व जल मीटर लगाने के निर्देश दिए हैं जिससे दिसंबर से जनवरी तक शहर में 24 घंटे पानी सप्लाई शुरू होने की उम्मीद भी जताई जा रही है। इधर नगर निगम के जल शाखा प्रभारी एवं एमआईसी सदस्य द्वितेंद्र मिश्रा ने बताया कि अमृत मिशन योजना के तहत शहर में 24 घंटे पानी सप्लाई की तैयारी अंतिम चरण में चल रही है। नए बसाहटों को भी योजनाओं में शामिल किए जाने से अभी मात्र 15 से 16 किलोमीटर पाइप लाइन का विस्तार ही शेष है। 28 हजार नल कनेक्शन में मीटर लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी तक 3000 से अधिक पुराने नल कनेक्शन के अवैध  होने की पुष्टि भी हुई है। जिसकी जांच भी की जा रही है और आने वाले समय मे सभी कनेक्शन वैध किए जाएंगे।