अम्बिकापुर: कोरोना की दूसरी लहर ने सभी को सीख दे दी है, इसीलिए तीसरी लहर से निपटने के लिए अभी से तैयारियां शुरू

 | 
1

अम्बिकापुर - अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोरोना मरीजो के इलाज के दौरान ऑक्सीजन की कमी न पड़े इसे देखते हुए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव द्वारा हर संभव प्रयास किया जा रहा है। इसी कड़ी में स्वास्थ्य मंत्री की पहल पर आईसीयू वार्ड एवं ऑक्सीजन बेड के लिए 190 जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था की गई है। ताकि समय रहते मरीजों को ऑक्सीजन मिल सके और उनकी जान बच सके। सरगुजा में कोरोना की दूसरी लहर से निपटने के साथ- साथ संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव की पहल पर जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम हर संभव प्रयास कर रहा है।

दूसरी लहर ने हर किसी को सिख दे दिया है कि कोरोना के इलाज में ऑक्सीजन के साथ साथ आईसीयू वार्ड कितना महत्वपूर्ण है। इस कमी को देर करने के लिए स्वास्थ्य मंत्री के निर्देश पर अंबिकापुर में नगर निगम भी आगे आया है। अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में नगर निगम की मदद से आईसीयू वार्ड सहित ऑक्सीजन बेड की भी संख्या बढ़ाने की तैयारी चल रही है। इसके अलावा सरगुजा में ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव की पहल पर नए आईसीयू वोट के लिए 190 जम्बो ऑक्सीजन सिलेंडर अंबिकापुर भिजवाया गया हैं।

इन जम्मू सिलेंडर का इस्तेमाल आईसीयू वार्ड में किया जाएगा। ताकि इलाज कराने अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंच रहे कोरोना संक्रमित मरीजों को ऑक्सीजन की समस्या ना झेलनी पड़े और मरीजों को समय रहते ऑक्सीजन मिल सके। कांग्रेस जिला कमेटी के अध्यक्ष राकेश गुप्ता ने बताया कि 190 जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर के अलावा जिले में 200 अतिरिक्त ऑक्सीजन सिलेंडर स्टाफ में रखा हुआ है। इसके अलावा लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट की सुकृति स्वास्थ्य मंत्री के प्रयासों से मिल चुकी है। वही सोमवार से 20 किलो लीटर लिक्विड ऑक्सीजन का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। गौरतलब है कि कोरोना मरीजों के उपचार के लिए अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में संसाधनों को बढ़ाने का हर संभव प्रयास अस्पताल प्रबंधन एवं सूबे के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के द्वारा किया जा रहा है।

रिपोर्ट- हसनेन खान