अंतागढ़ :-  शिक्षक दिवस पर शिक्षको का हुआ सम्मान, विधायक अनूप नाग ने किया सम्मानित 

 | 
1

विधायक ने कहा कोई भी मानदेय शिक्षक के योगदान का मूल्य नहीं हो सकता

शिक्षक के अवदान का मूल्यांकन उनके सम्मान से ही संभव है

अंतागढ़ में शिक्षक दिवस हर्षोल्लास के साथ अंतागढ़ विधायक अनूप नाग की उपस्तिथि में मनाया गया।

विधायक अनूप नाग ने कार्यक्रम का शुभारंभ डा. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के चित्र के समक्ष पुष्पांजलि अर्पित कर किया ।

इस अवसर पर सेवानिवृत शिक्षको ने शिक्षक दिवस के अवसर पर अपने विचार प्रस्तुत किये।

विधायक अनूप नाग ने सभी शिक्षको को शिक्षक दिवस की बधाई देते हुए उन्हें डा. राधाकृष्णन के जीवन के महत्वपूर्ण पहलुओं बारे अवगत करवाया । उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति में शिक्षक को भगवान के समान माना जाता है। वहीं शिक्षक दिवस गुरु और शिष्य के बीच बने संबंध को जीने का और गुरु के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करने का त्योहार है। हमें शिक्षक दिवस के दिन ही नहीं अपितु जीवनभर अपने शिक्षकों का सम्मान करना चाहिए।

शिक्षक समाज का पथ प्रदर्शक है, समाज के निर्माण में उसकी महत्वपूर्ण भूमिका है। कोई भी मानदेय शिक्षक के योगदान का मूल्य नहीं हो सकता। शिक्षक के अवदान का मूल्यांकन उसके सम्मान से ही संभव है। यह बातें अंतागढ़ में आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि विधायक अनूप नाग ने कहीं।

इस दौरान विधायक अनूप नाग ने प्राथमिक स्तर से लेकर उच्चतर माध्यमिक स्तर से होकर सेवा निवृत्त शिक्षक व शिक्षिकाओं को शॉल, श्रीफल  भेंट कर एवं चंदन का टीका लगाकर सम्मानित किया गया।

*आदर्श शिक्षक बनने को किया प्रेरित*

इस अवसर पर विधायक ने सभी शिक्षकों को सम्मानित किया। अपने आगे के संबोधन में विधायक ने कहा कि शिक्षक दिवस देश के प्रथम राष्ट्रपति व शिक्षक सर्वपल्ली डा. राधाकृष्णन के जन्मदिवस पर मनाया जाता है। उन्होंने कहा कि बदलते दौर में शिक्षक और विद्यार्थियों के रिश्तों में बदलाव आ रहा है। हमें जरूरत है कि शिक्षक और विद्यार्थियों के रिश्तों को मधुर बनाएं !

विधायक अनूप नाग ने आगे कहा कि डा. राधाकृष्णन की लोकप्रियता के कारण उन्हें देशरत्न भी कहकर पुकारा जाता था। उन्होंने सभी स्टाफ सदस्यों से आह्वान किया कि हमें उनके द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलकर एक आदर्श शिक्षक बनना चाहिए।

इस अवसर पर सेवा निर्वत्त शिक्षको में लखेन्द्र कश्यप, विश्वनाथ कोमरा, श्रीमती छन्नी साहू, प्राचार्य भुनेश्वर उईके, पिलुराम साहू, चंद्र कुमार ध्रुव, राम प्रसाद नेगी, राम कुमार साहू, स्टेट बैंक के मुख्य प्रबंधक तेजस्वी पटेल, शाखा प्रबंधक प्रवीण सोनी, बीईओ देवांगन, एबीओ चतुर्वेदी समेत कई शिक्षक गण मौजूद रहे ।