बांकीमोंगरा :-   जटांगपुर से लगे कसरेंगा रेत घाट में रेत माफिया द्वारा किया जा रहा अवैध उत्खनन


 

 | 
1

बांकीमोंगरा थानांतर्गत ग्राम ढपढप के आश्रित ग्राम कसरेंगा में रेत माफिया का गुंडाराज चल रहा हैं, इस बात की जानकारी दिये जाने के बाद भी खनिज विभाग व स्थानीय पुलिस प्रशासन इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। कार्यवाही नही होने से रेत माफियाओं के हौसले दिन ब दिन बढ़ते जा रहे है ।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कसरेंगा रेत खदान का टेंडर अभय कुमार गर्ग नामक ठेकेदार को मिला हैं, अभय कुमार गर्ग ने जानकारी देते हुए बताया कि ग्राम कसरेंगा के उपसरपंच द्वारिका यादव द्वारा अपने निजी आदमियों से रेत की अवैध रूप से गुंडागर्दी करते हुए उत्खनन कर रहा हैं,।

जिसकी शिकायत खनिज विभाग सहित, कटघोरा एसडीएम कार्यालय व बांकीमोंगरा थाना को इसकी शिकायत किया जा चुका हैं, उसके बाद भी अवैध उत्खनन करने वालें के ऊपर किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं किया जा‌ रहा हैं। गर्ग ने आगे बताया कि रातों-रात अवैध उत्खनन एवं परिवहन किये जाने से न केवल विभाग को राजस्व का नुकसान हो रहा है । बल्कि विभागीय आदेशो की अवहेलना की जा रही है ।

बताया जा रहा हैं की रेत उत्खनन के साथ ही अवैध वसूली भी की जा रही हैं, इस मामले को लेकर मना करने पर जान से मारने की धमकी देने से गुरेज नही कर रहा है । रेत माफिया के इस गुंडागर्दी से ठेकेदार के साथ ही साथ ग्रामीणो में असुरक्षित की भावना ने घर करना शुरू कर डिय है ।

कसरेंगा रेत घाट में इस तरह की गुंडागर्दी की घटना को अंजाम देने वाले लोगो की शिकायत भी की जा चुकी है । लेकिन खनिज विभाग के आंखों में काली पट्टी बंधी हुई है । उसे अवैध कार्य दिखाई नहीं दे रहा है । या फिर ये कहना भी गलत नही होगा । कि विभाग के लोगो के सामने अवैध कार्य करने वाले लोगो ने चढ़ावे की दीवार खड़ी कर दी है ।

यही कारण है कि रेत का अवैध कारोबार खुलकर किया जा रहा है ।अवैध रेत उत्खनन किये जानकी शिकायत जिला पुलिस प्रशासन के समक्ष की जा चुकी है पर अबतक कोई कार्यवाही नही किया जाना हमारी इस बात को हकीकत साबित कर रहा है ।

द्वारा किसी प्रकार की अवैध उत्खनन करने वाले रेत माफिया के ऊपर ठेकेदार के द्वारा कई मर्तबा शिकायत के बाद भी पुलिस-प्रशासन किसी प्रकार की कार्यवाही नहीं किया जा रहा हैं, जो समझ से परे हैं, अब देखने वाली बात हैं कि खबर प्रकाशित होने के बाद पुलिस-प्रशासन किस प्रकार से इस ओर कार्यवाही करती हैं।