बेमेतरा :- बेरला मार्ग में सरदा-लेंजवारा धान संग्रहण केंद्र के मजदूरों ने किया चक्काजाम

 | 
1

सरदा-लेंजवारा धान संग्रहण केंद्र के मजदूरों को 5 महीना से उनके मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया है। जिससे धान संग्रहण केंद्र के मजदूरों के सामने आर्थिक संकट उत्पन्न हो गई है। बेमेतरा जिला के अधिकांश धान संग्रहण केंद्र के मजदूरों को काम करने के बाद पेमेंट के लिए अनेक तरह के पापड़ बेलने और अधिकारियों के चक्कर काटने पड़ते है तब कही जाके मजदूरी का भुगतान होता है।कलेक्टर, डीएमओ और अन्य अधिकारियों से भुगतान करने के लिए आग्रह करने के बाद भी भुगतान नहीं हुआ हो रहा है। जिसके कारण धान संग्रहण केंद्र के मजदूर 5 माह से लंबित मजदूरी भुगतान नहीं होने से मजबूर होकर बेमेतरा-बेरला मार्ग में आज सरदा में चक्काजाम किया।

धान संग्रहण केंद्र के मजदूर गुमान निर्मलकर ने बताया कि धान संग्रहण केंद्र के मजदूरों से मजदूरी तो कराया जाता है, लेकिन मजदूरी का भुगतान समय में नहीं किया जाता है। जिसके कारण हमारे सामने आर्थिक संकट उत्पन्न हो जाता है। मजदूर अश्वन कुमार ने कहा कि हमारे सभी साथी पूरे ईमानदारी के साथ समय पर काम करते है, लेकिन हमें समय पर मजदूरी भुगतान नहीं होता, जिसके कारण हम मजबुर होकर चक्काजाम करते है। मजदूर नरेन्द्र सिन्हा ने बताया कि हम सभी कोविड-19 के दूसरे लहर का सामना मजदूरी भुगतान नहीं होने के कारण आर्थिक तंगी से जूझते हुए किया।

भाजपा जिला सहकारिता प्रकोष्ठ के जिला संयोजक एवं जिला पंचायत सभापति बेमेतरा राहुल योगराज टिकरिहा ने बताया कि धान संग्रहण केंद्र के कर्मचारियों व मजदूरों के द्वारा लगातार मजदूरी भुगतान नहीं होने की शिकायत लगातार मिल रहा था। मजदूर साथियों के साथ मिलकर चक्काजाम किया, उसके बाद जिला विपणन अधिकारी द्वारा 15 दिनों के अंतर्गत मजदूरी भुगतान करने का लिखित आश्वासन दिया गया साथ ही फोन पर डीएम से बात होने पर अतिशीघ्र भुगतान करने का आश्वासन दिया।दीपावली के पहले भी हमने मजदूर साथियों के साथ उनकी मजदूरी भुगतान के लिए चक्ककाम किया था। तब कही जाके उनको मजदूरी मिला था। कोविड-19 संकट दौर में भी मजदूरों को भारी आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ा था। विपणन अधिकारी से आग्रह किया कि मजदूरों को उनका भुगतान हर माह किया जाए, ताकि मजदूरों को किसी प्रकार की समस्या न हो।

चक्काजाम में धान संग्रहण केंद्र से दिलीप यादव, यशवंत साहू, दीनदयाल, यशवंत देवांगन, गुमान निर्मलकर, अश्वन कुमार, इमरान अली, दिनदयाल साहू, मुकेश चंदेल, कीर्ति साहू, नरेंद्र सिन्हा, गणपत सिन्हा, योगेश साहू, गजेंद्र वर्मा,  सालिक साहू, कुशल साहू, हमीद बैग, विनोद साहू, बोधन साहू, हुलास साहू, बलराम साहू, गोवर्धन साहू, चिमन साहू, रवि देवांगन, देवलाल देवांगन, गोविंद वर्मा, ईश्वर साहू, दिनेश्वर साहू, डामन देवांगन, वेदप्रकाश देवांगन, मन्नू साहू, हीरा साहू, लखन साहू, राजेश साहू, टहल यदु, गणेश निर्मल, महमूद खान, बरातू साहू, खड़ानंद साहू, उतरा साहू, रामकुमार साहू, योगेंद्र ठाकुर, सुशील मानिकपुरी, महेश सिन्हा, राजू साहू, दीपक चंदेल, नरेश दाऊ, केशव कौशले, विजय साहू, मनोज कौशले, पोषण बघेल, बेदू साहू, अरुण साहू, शत्रुहन साहू, यशवंत बनाफर, भारत साहू, धनराज साहू, कृष्णा साहू, खेदू साहू, लेखन मानिकपुरी, अनिल साहू व अन्य मजदूर उपस्थित थे।


बेमेतरा-बेरला मार्ग सरदा में 3 घंटे तक रहा यातायात बाधित
धान संग्रहण केंद्र के मजदूरों द्वारा बेमेतरा-बेरला मार्ग सरदा में धान संग्रहण केंद्र के मजदूरों द्वारा चक्काजाम करने के कारण यातयात व्यवस्था 3 घंटा तक बाधित रहा।  रास्ते के दोनों तरफ गाड़ियों की लंबी लाइने लग चुकी थी।

विपणन अधिकारी द्वारा लिखित आश्वासन देने के बाद हटे मजदूर
धान संग्रहण केंद्र के मजदूरों को 3 घण्टा चक्काजाम के बाद विपणन अधिकारी द्वारा 15 दिन के अंतर्गत मजदूरी भुगतान करने का लिखित आश्वासन दिया गया साथ ही फोन पर डीएम द्वारा अतिशीघ्र मजदूरी भुगतान करने का आश्वासन दिया गया। जिसके बाद मजदूरों ने सड़क खाली किया।

चक्काजाम के मद्देनजर तहसीलदार सहित भारी पुलिस बल तैनात थे
जिला विपणन अधिकारी आशुतोष कोसरिया, बेरला तहसीलदार कुर्रे, नायाब तहसीलदार पारस वेंताल, थाना प्रभारी बेरला सहित आस पास के पटवारी व भारी संख्या में पुलिस बल व कोटवारों की तैनाती की गई थी।

वर्सन -
बेमेतरा के सरदा-लेंजवारा धान संग्रहण केंद्र में लगातार मजदूरी भुगतान विसंगति चली आ रही है, बीते वर्ष भी हमें चक्काजाम हेतु बाध्य होना पड़ा था। इस प्रकार की विसंगति दुर्भाग्यपूर्ण है। जिला विपणन अधिकारी के लिखित आश्वासन के बाद 15 दिन का समय दिया गया है।