हरदीबाजार: जीवन यापन करने बच्चों को दिखाना पड़ रहा सांप का करतब

 | 
1

रिपोर्ट - दुर्गेश मरावी

हरदीबाजारः वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से परेशान आम नागरिकों के साथ - साथ गरीब निम्न तबके के लोग भूखमरी का शिकार हो रहे हैं। शासन - प्रशासन, समाज सेवी गरीबों को सूखा राशन सामग्री प्रदान करने के साथ मरीजों को हॉस्पिटल तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं। लेकिन एक ऐसा सपेरा परिवार है जो पाली ब्लॉक के अंतर्गत ग्राम नुनेरा में निवास कर रहे हैं, जिन्हें कोई सहायता व राहत नहीं मिली है । ग्राम नुनेरा में लगभग 20 परिवार निवासरत है।

जीवन यापन के लिए उन्हें भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लॉकडाउन में कुछ छुट मिलते ही सपेरा परिवार का एक बच्चा खेलने कूदने की उम्र में गली मोहल्ले में सांप दिखा कर भिक्षा मांग रहा है। ऐसे तो मनीष लगभग उम्र 9 वर्ष का है और कक्षा तीसरी का पढ़ाई कर रहा है। लॉकडाउन व महामारी होने के कारण स्कूल बंद हो गए हैं। अपना शौक पूरा करने चिप्स कुरकुरे खाने के लिए सांप लेकर हर एक घर में जा कर दिखा रहा है । लोग रुपया,पैसा व चावल दे रहें हैं। ऐसे बच्चों के ऊपर व परिवारों को ध्यान में रखते हुए शासन प्रशासन मदद करें,ताकि इन लोगों को जीवन यापन के लिए कठिनाइयों का सामना न करना पड़े। साथ ही सांप जैसे जीव स्वतंत्र जीवन जी सके। सपेरे परिवार के लोगों को रोजगार की भी सख्त जरुरत हैं।