जांजगीर चाम्पा: मौत से जंग जीत कर 65 वर्षीय बुजुर्ग गरीब बलदेव सिदार स्वस्थ होकर घर लौटे

 | 
1

रिपोर्ट- जगन्नाथ प्रसाद चन्द्रा 

जिस गरीब बुजुर्ग मरीज को बिना देखे हॉस्पिटल के गेट से कर रहे थे वापस, आज वो बुजुर्ग उसी अस्पताल से स्वस्थ होकर निकले। बलदेव की पत्नी श्रीमती वेदमती सिदार ने कहां मेरे लिए किसी फरिस्ता से कम नही लालू बेटा।
वही बलदेव के बड़ा बेटा चमक सिदार ने कहा हमसे भी ज्यादा लालू भईया ख्याल रखते थे बाबू जी का। आज 65 वर्षीय बलदेव सिदार को जनपद सदस्य प्रमोद गबेल, बीएमओ डॉ रविन्द्र सिदार और लालू ने नारियल पानी पिला कर हॉस्पिटल से घर भेजे।

मालखरौदा क्षेत्र के ग्राम रनपोटा निवासी 65 वार्षिक बुजुर्ग गरीब बलदेव सिंह सिदार का दिनाँक 23 मई को बहुत ज्यादा तबियत खराब हो गया था जिसका ऑक्सीजन लेवल बहुत ही कम हो गया था, ईलाज के लिए पहले अपने स्तर से काफी खर्च कर चुके परिजन बुजुर्ग बलदेव को बचा पाने की भी उम्मीद छोड़ दिये थे।

जिसको मालखरौदा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाये थे। बलदेव की स्थिति देख उसदिन ड्यूटीरत डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ बिना ईलाज के ही बाहर जाने बोल दिए थे।जिसको लेकर सामाजिक कार्यकर्ता लालू गबेल हॉस्पिटल में ड्यूटीरत लोगो पर जमकर बरसे थे और बीएमओ को बुला कर गरीब बुजुर्ग बलदेव को हॉस्पिटल में भर्ती कराये और बीएमओ डॉ रविन्द्र सिदार द्वारा तुरंत उपचार शुरू किया गया था।

वही बलदेव सिंह सिदार आज सप्ताह भर बाद मालखरौदा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से प्रसन्न मन से हँसते मुस्कुराते हुए स्वस्थ हो कर घर लौटे। इस दौरान जनपद सदस्य प्रमोद गबेल, बीएम डॉ रविन्द्र सिदार और सामाजिक कार्यकर्ता लालू गबेल ने बुजुर्ग बलदेव सिंह सिदार को नारियल पानी पिला कर उनके उज्ज्वल भविष्य और लंबी आयु की कामना कर घर भेजे।

इस अवसर पर जनपद सदस्य प्रमोद गबेल ने बुजुर्ग बलदेव के लिए पौष्टिक आहार हेतु एक हजार देने घोषणा किया, और ग्राम रनपोटा निवासी रूपलाल साहू के हाथों राशि बलदेव के घर भेजवाये।

वही सामाजिक कार्यकर्ता लालू गबेल ने बुजुर्ग गरीब बलदेव सिंह सिदार को समय पर बेहतर ईलाज के साथ सहयोग के लिए बीएमओ डॉ रविन्द्र सिदार, डॉ मिथलेश चन्द्रा और हॉस्पिटल स्टाफ राधेश्याम निराला, प्रमोद जाटवर को धन्यवाद दिया और कहाँ कि इस कोरोना काल मे गरीबो का अगर कोई थोड़ा भी देखभाल कर देंगे तो मौतों से जंग जीत लेंगे।
बलदेव सिंह सिदार के स्वस्थ होने पर उनका पूरा परिवार उन्हें घर ले जाने अस्पताल आये थे।

बलदेव सिंह सिदार खुद को स्वस्थ होना महसूस कर घर जाने की इच्छा जाहिर किया और अभी उनकी स्वास्थ्य स्थिति काफी बेहतर है। परिजन भी बोले ठीक हो गए घर जाएंगे, परिजन के संतुष्टि उपरांत हॉस्पिटल से छुट्टी दिया गया। डॉ रविन्द्र सिदार खंड चिकित्सा अधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मालखरौदा।