कोरबा :-  कटघोरा DFO शमा फारूकी के चैंबर में घुसकर आत्मदाह की कोशिश भाजपा नेता के विरुद्ध एफआईआर दर्ज

 | 
1

प्रदेश की वरिष्ठ आई.एफ.एस अफसर शमा फारूकी के साथ अभद्रता एवं आग लगाकर आत्महत्या की कोशिश करने वाले भाजपा नेता अभय गर्ग एवम अक्षय गर्ग पर कटघोरा पुलिस द्वारा आरोपियों के विरुद्ध एफआई आर दर्ज के ली गई है।

गौरतलब है की कटघोरा वनमंडल परिसर में शुक्रवार को कटघोरा निवासी ठेकेदार अभय गर्ग ने डीएफओ कार्यालय में खुद पर मिट्टीतेल उड़ेल कर आत्मदाह करने की कोशिश की। आत्मदाह करने की वजह 65 लाख रुपये का भुगतान लंबित होना बताया जा रहा है ! ठेकेदार ने इस घटनाक्रम को तब अंजाम दिया जब डीएफओ दफ्तर में ही थी । स्थिति को देखते हुए पुलिस को सूचना दी। इस बीच अभय के भाई भाजपा नेता अक्षय गर्ग भी जानकारी मिलते ही डीएफओ कार्यालय पहुंच कर डीएफओ के साथ अभद्रता पूर्वक व्यवहार करते हुए गाली गलौज एवं अपशब्दों का प्रयोग कर काफी खरी-खोटी सुनाया गया।

वही डीएफओ शमां फारूखी ने इस मामले में बताया कि ठेकेदार का यह पूरा काम तत्कालीन डीएफओ डीडी सन्त के कार्यकाल का है, जिसकी ज्यादा जानकारी उन्हें नहीं है। बेवजह उनको परेशान करने के लिए भाजपा नेताओं अभय गर्ग एवम अक्षय गर्ग द्वारा गाली गलौज करते हुए अभद्र शब्दों का प्रयोग किया गया था ! मौके की गंभीरता को देखते हुए डीएफओ कटघोरा द्वारा पुलिस को सूचित कर अक्षय गर्ग एवम अभय गर्ग पर उचित कार्रवाई की मांग की गई थी। चुकी एक आईएफएस अधिकारी के साथ अभद्र व्यवहार एवम आत्मदाह की कोशिश करना संगीन जुर्म है किंतु कटघोरा पुलिस ने अभी तक आग लगाकर आत्महत्या की कोशिश करने वाले एवम डीएफओ के साथ अभद्र व्यवहार करने वाले अक्षर गर्ग एवं अभय गर्ग पर कटघोरा पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

बता दे अक्षय गर्ग पूर्व में भी कटघोरा वन मंडल उपवनमंडलाधिकारी डीडी सिंह के साथ मारपीट के मामले में जेल की हवा खा चुके है इन पर अनेको मामले दर्ज है एवम कटघोरा थाने के गुंडा बदमाश की सूची में इनका नाम दर्ज है !

मामले में डीएफओ समा फारूकी ने बिलासपुर संभाग के आईजी रतन लाल डांगी से आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज करने गुहार लगाई थी । हाल में ही आईजी रतनलाल डांगी कटघोरा आए थे एवम मामले की गंभीरता को देखते हुए कटघोरा थाना प्रभारी को तत्काल अपराध दर्ज करने निर्देशित किया था। जिसके बाद तत्काल कटघोरा टीआई नवीन देवांगन के ठेकेदार अभय गर्ग एवम अक्षय गर्ग के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।