कोरबा :-  चैतमा गुणवत्ता युक्त कार्य करने हेतु पूरा संकल्पित वन परिक्षेत्र अधिकारी मृत्युंजय शर्मा

 | 
1

 कटघोरा वन मंडल वैसे तो सुर्खियों मे रहता ही है लेकिन यहाँ कुछ वन परिक्षेत्र अधिकारी गुणवत्ता युक्त कार्य कराने में पूरी तरह से प्रयासरत रहते है । जो विशेष रूप से गुणवत्ता का ध्यान में रखकर कार्य कराते है। कोरबा जिले के वन मंडल कटघोरा के अधीन वन परिक्षेत्र चैतमा के वन परिक्षेत्रधिकारी श्री मृत्युंजय शर्मा जी अपने कार्य मे विशेष ध्यान देकर गुणवत्ता युक्त कार्य कराते है ताकि लंबे समय तक उनके द्वारा कराए गए कार्य में किसी प्रकार की कोई त्रुटि ना आए !!

लेकिन कुछ वेब पोर्टल में बिना जानकारी लिए कोई भी उलूल जुलूल ख़बर बना कर  वन परिक्षेत्र अधिकारी की छवि को धूमिल करने का कार्य किया जा रहा है जो कि सही नही है सच्चाई कुछ और है। बिना सच्चाई जाने ख़बर अपने निजी फायदे के लिए प्रकशित किया जा रहा है आजकल सही ढंग से पत्रकारिता बहुत कम ही लोग कर पा रहे है ,बाकी कुछ लोग इसे बिजनेस बना कर बैठे है और उनमें ज्यादा संख्या वेब पोर्टल वालों का है । सही पत्रकारिता वो है जो मामले को जड़ से जानकर निष्पक्षता पूर्वक खबर प्रकाशित करे ।

वन परीक्षेत्र अधिकारी द्वारा बताया गया कि हमारे वन परिक्षेत्र चैतमा रेंज के राहा, सपलवा,तेलसरा,आदि स्थान में कार्य को प्रारंभ किया गया था,परन्तु जैसे ही कुछ निर्माण कार्य हुआ था अचानक तेज वर्षा होने से कुछ सीमेंट गिट्टी तेज पानी के बहाव में बह गया क्योंकि वह पूरी तरह सेट नही हुआ था। कोई भी निर्माण कार्य जारी के दौरान जाहिर सी बात है वह तुरन्त तेज बारिश से बहेगा ही हमारे अधिकार क्षेत्र में जो भी निर्माण कार्य होता है उसे पूरी निष्ठा और जिम्मेदारी से कार्य को कराया जाता है,अभी हाल ही में बारिश के वजह से कार्य बंद है लेकिन कार्य प्रगति पर ही है मशीन भी उसी स्थान में रखा हुआ है, मौसम पूरी तरह ठीक होने के बाद वह कार्य प्रारंभ किया जाएगा अभी मौसम ठीक नही होने के वजह से वह कार्य बंद है !!

हमारे द्वारा निर्माण कार्य मे मॉनिटरिंग बखूबी से किया जा रहा है और पूरा निर्माण कार्य मे गुणवत्ता का विशेष ध्यान दिया जाएगा । उन्होंने ये भी कहा कि मेरा वेब पोर्टल वालों से निवेदन है कि समाचार विषय, स्थिति को देखते हुए पूरी तरह जांच परख पूछ कर ही लगावें अपने निजी फायदे के लिए न्यूज प्रकाशित न करे जिससे की बेवजह किसी अधिकारी के चरित्र पर दाग ना लगे और ना ही उन्हें बेवजह किसी हीनता का शिकार ना होना पड़े !!

वही हम बात करे कटघोरा डीएफओ शमा फारूकी कई मर्तबा अनगर्ल आरोपो का शिकार हो चुकी हैं लगातार तथ्यहीन आरोप इनकी कार्यशैली पर आमादा रहे हैं।लगातार कभी ठेकेदारो के द्वारा तो कभी कुछ वेब पोर्टल द्वारा गलत तरीकों से मामलों को प्रर्दशित किया जाता है किंतु बोलते है ना सच्चाई किसी का मोहताज नही होता ..वही लगातार डीएफओ तो रेंजरो के खिलाफ षड़यंत्रकारी द्वारा षड़यंत्र किया जा रहा है ?जिन्हें लगता है कि ऐसे कृत्यों से डीएफओ शमा फारूकी की छवि धूमिल होगी और इन्हें यहाँ से रवाना कर दिया जाएगा।किंतु पुरानी कहावत है "साँच को,आंच नही"