कोरिया  :-  प्राकृतिक आपदा से हुई जनहानि के प्रकरणों में मानवीय दृष्टिकोण एवं संवेदनशीलता अपनाते हुए कार्य करें

 | 
1

 प्राकृतिक आपदा से हुई जनहानि के प्रकरणों में मानवीय दृष्टिकोण एवं संवेदनशीलता अपनाते हुए कार्य करें। जनक्षति की पूर्ति नहीं की जा सकती है। प्रकरण का शीघ्र निराकरण कर परिजनों की मदद करें। जिससे शासन व प्रशासन पर लोगों का विश्वास मजबूत हो। कलेक्टर श्याम धावड़े ने विकासखंड सोनहत में एसडीएम व तहसील न्यायालय के औचक निरीक्षण पर राजस्व परिपत्र 6-4 के प्रकरणों के शीघ्र निराकरण के निर्देश देते हुए कहा। प्रशासनिक कसावट और राजस्व प्रकरणों में जनता को राहत मिले, इसके लिए कलेक्टर धावड़े लगातार तहसील कार्यालय का औचक निरीक्षण कर रहे हैं। इस दौरान राजस्व प्रकरणों के अनावश्यक लंबित होने की बात सामने आई है। इसी क्रम में कलेक्टर और सीईओ जिला पंचायत औचक निरीक्षण पर एसडीएम ऑफिस पहुंचे। यहां उन्होंने एसडीएम व तहसील न्यायालय में लंबित प्रकरणों की जानकारी ली। अपर कलेक्टर एवं राजस्व कर्मचारियों की टीम बनाकर कलेक्टर ने प्रकरणों की जांच कर रिपोर्ट बनाने के निर्देश दिए हैं। शीर्षवार अब तक 300 से अधिक प्रकरणों के लंबित होने की जानकारी मिली है। 480 ऐसे प्रकरण जिन्हें डिस्पोजल के बाद रिकॉर्ड रूम नहीं भेजा गया। 225 प्रकरण अपंजीकृत पाये गये।
 
आरबीसी 6-4 के 3 प्रकरण 3 साल से लंबित, कलेक्टर ने जताई नाराज़गी
निरीक्षण के दौरान कलेक्टर धावड़े ने राजस्व परिपत्र 6-4 के प्रकरणों को विशेष रूप से अवलोकन किया। जिसमें तीन ऐसे प्रकरण मिले, जो तीन साल से लंबित हैं। कलेक्टर ने नाराज़गी जताते हुए 15 दिन के भीतर प्रकरणों के निराकरण के निर्देश दिए। इन प्रकरणों में ग्राम राउतसरई में आवेदक मंगल साय के भाई स्व. अमरजीत पण्डो की मृत्यु दिनांक 18 नवम्बर 2018 को जहरीला सर्प काटने के कारण हुई। जिसका आज तक निराकरण नहीं किया गया। इसी तरह ग्राम अकलासरई में दिनांक 14 मई 2020 को आकाशीय बिजली गिरने के कारण आवेदक हीरालाल के पुत्र हीरा सिंह और ग्राम गोयनी में दिनांक 20 अगस्त 2018 कुएं के पानी में डूबने के कारण आवेदक रामू प्रसाद के भाई स्व. राम प्रसाद की मृत्यु पर तीन साल से प्रकरण का निराकरण शेष है।

कलेक्टर ने जाति प्रमाण पत्र शिविर की ली जानकारी, अब तक 600 से अधिक स्थायी जाति प्रमाण पत्र जारी
कलेक्टर धावड़े ने एसडीएम सोनहत से अब तक जारी किए गए स्थायी जाति प्रमाण पत्र की जानकारी ली। एसडीएम सोनहत प्रशांत कुशवाहा ने बताया कि अब तक जाति प्रमाण पत्र के 600 से अधिक हितग्राहियों के स्थायी जाति प्रमाण पत्र बनाये गये है। इसी के साथ आय, निवास के भी 2000 से अधिक आवेदन प्राप्त कर प्रमाण पत्र जारी किये गये हैं। लगातार जिला प्रशासन द्वारा शिविर का आयोजन कर अभियान के रूप में जनता को आधारभूत दस्तावेज उनके भर के निकट ही उपलब्ध कराये जा रहे हैं।