कोरिया  :-   सुदुर वनांचल आनंदपुर में जल्द शुरू होगी संस्थागत प्रसव की सुविधा

 | 
1

कलेक्टर कोरिया श्याम धावड़े ने जिले में पदस्थापना के साथ ही स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार को सर्वोच्च प्राथमिकता मे रखते हुए स्वास्थ्य अमले को पूरी सजगता और संवेदनशीलता के साथ काम करने के निर्देश जारी कर दिये है। इसी क्रम में गत दिवस कलेक्टर कोरिया ने जिले के दूरूस्थ ग्राम पंचायत आनंदपुर पहुचकर वहॉ संचालित उप स्वास्थ्य केन्द्र में एक सप्ताह में संस्थागत प्रसव की सुविधा प्रांरभ कराने के निर्देश दिये। जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर संवेदनशीलता के साथ निरंतर प्रयास कर रहे कलेक्टर कोरिया श्याम धावड़े ने सोनहत विकासखण्ड के वनांचल क्षेत्र रामगढ़ और दूरूस्थ गांव आनंदपुर तथा गोयनी का भ्रमण कर स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया।
यहॉ उप स्वास्थ्य केन्द्र आनंदपुर में पदस्थ महिला स्वास्थ कर्मी से उन्होनें क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं की स्थिति के बारे में जानकारी लेते हुए एक सप्ताह में संस्थागत प्रसव के लिए आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराने के निर्देश दिये।  अपने भ्रमण के दौरान आंनदपुर पहुचकर कलेक्टर श्याम धावड़े ने स्वास्थ्य कार्यकर्ता से दवाओं की उपलब्धता और नियमित रूप से स्वास्थ्यगत कारणों से केन्द्र में आने वाले आम नागरिकों के बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। यहॉ उपस्थित आम नागरिकों से चर्चा करते हुए उन्होनें संस्थागत प्रसव के लाभ के बारे में सभी को अवगत कराया। ग्रामीणों की मांग पर उप स्वास्थ्य केन्द्र के उन्नयन कार्य के साथ ही संस्थागत प्रसव के लिए सौर उर्जा के माध्यम से विद्युत व्यवस्था, स्वच्छ जल आपूर्ति कराये जाने के लिए आवश्यक उपकरण लगाये जाने तथा आवश्यक दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। कलेक्टर कोरिया श्याम धावड़े ने आनंदपुर क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले पंचायत गोयनी, धनपुर और नवीन पंचायत के रूप में गठित हो चुके दसेर और उसके आश्रित ग्राम कछुआखोह में बहुउददेश्यीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और मितानिनों के बारेे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त की और ग्रामीणों को मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता बनाये रखने के निर्देश दिये। इस दौरान कलेक्टर कोरिया के साथ जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुणाल दुदावत, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व प्रशांत कुशवाहा, तहसीलदार अंकिता पटेल सहित विभिन्न विभागों के संबंधित अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहें।