महासमुंद: कलेक्टर ने ली जिला स्वास्थ्य अधिकारियों की बैठक

 | 
1

रिपोर्ट -शुकदेव वैष्णव

कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बचने की तैयारियों पर हुई चर्चा। कलेक्टर ने पात्र नागरिकों से द्वितीय डोज के टीकाकरण के लिए नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों में जाकर टीकाकरण कराने की अपील की
महासमुंद  कलेक्टर श्री डोमन सिंह ने जिला स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक कर जिले  में कोरोना संक्रमण के नियंत्रण एवं बचाव के लिये की जा रही गतिविधियों तथा वैक्सीनेशन की जानकारी ली। कलेक्टर ने कोरोना संक्रमित मरीजों के उपचार, कोविड वैक्सीनेशन, कोरोना संक्रमण तथा उपचार संबंधी व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्होंने मरीजों के त्वरित एवं समुचित उपचार और कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह पालन कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाये कि स्वास्थ्य केंद्र पर किसी भी प्रकार की अव्यवस्था न हो। यहाँ आने वाले मरीज को पूरा उपचार मिले। कलेक्टर ने बुधवार को  जिले के क्वारेंटीन सेंटर का निरीक्षण कर मरीजों को मिल रहे उपचार और भोजन आदि की व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया।
कलेक्टर ने टीकाकरण अभियान की प्रगति की समीक्षा की और इसे तेज करने के लिए कदम उठाने पर जोर दिया। उन्होंने कोरोना वैक्सीनेशन की उपलब्धता की जानकारी ली । उन्होंने ज्यादा से ज्यादा कोरोना टेस्टिंग करने पर बल दिया। उन्होंने इस बात पर खुशी जताई की जिले में कोरोना टेस्टिंग और टीकाकरण अन्य जिलों की अपेक्षा स्थिति ठीक है। उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग एवं टीकाकरण के जरिये हम कोरोना को मात दे सकते है। पहले की अपेक्षा कोरोना संक्रमित व्यक्तियों में कमी आयी है। उन्होंने वैक्सीन की उपलब्धता को देखते हुए कहा कि वैक्सीन के डोज का शत-प्रतिशत उपयोग हो इसमें सतर्कता बरती जाए। इसके अलावा कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के लिए लोगों को जागरूक करने कहा है। 
     श्री डोमन सिंह ने इस बीच तीसरी लहर की खबर सामने आने और इसकी संभावना को दृष्टिगत रखते हुए कहा कि इसे लेकर सभी जरूरी तैयारियां अभी से कर ली जाए। अब तीसरी लहर को लेकर लोग चिंतित हैं। कोरोना की पहली लहर ने बुजुर्गों को और दूसरी ने युवाओं को प्रभावित किया। अब ऐसी आशंका जताई जा रही है कि तीसरी लहर बच्चों को अपनी चपेट में ले सकती है। जैसा कि आशंका जताई जा रही है कि इससे  बच्चे कोरोना संक्रमित से प्रभावित हो सकते है। तीसरी वेब से बचने उनके लिए अलग तरह के वेंटिलेटर की जरूरत होगी यह भी देखना होगा। बच्चों को कितनी मात्रा में दवाई दी जाए. कोविड और कोविड के बाद बच्चों की देखरेख कैसे की जाए। सावधानी के तौर पर उसके लिए भी कार्य योजना बना ली जाए। कलेक्टर ने पात्र नागरिकों से आग्रह करते हुए कहा है कि द्वितीय डोज के टीकाकरण के लिए पात्र हितग्राही अपने-अपने नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों में जाकर अनिवार्य रूप से टीकाकरण कराएं।
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के पात्र लोगों के लिए जिले में पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध है, लेकिन अधिकांश हितग्राहियों के टीकाकरण के लिए प्रथम डोज के टीकें लगाने के उपरांत निर्धारित 84 दिवस पूर्ण नहीं हो पाने के कारण द्वितीय डोज के टीकाकरण के कार्य में प्रगति अपेक्षाकृत कम हैं। 08 जून 2021 के बाद से अधिकांश हितग्राही द्वितीय डोज के लिए पात्र हो पायेंगे। जिससे टीकाकरण के कार्यों में और अधिक प्रगति आएगी। जिले में लगभग 12 हजार कोविशिल्ड के टीके उपलब्ध हैं। जिले में प्रथम डोज का टीका 02 लाख 32 हजार 732 तथा द्वितीय डोज का टीका 50 हजार 636 पात्र व्यक्तियों ने लगाया है। इसी तरह 18 से 44 वर्ष के 39 हजार 163 पात्र हितग्राहियों ने टीका लगवाया है। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री आकाश छिकारा, मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ. एन.के मंडपे, डिप्टी कलेक्टर सुश्री पूजा बंसल, टीकाकरण अधिकारी डॉ. अरविंद गुप्ता, डीपीएम श्री रोहित वर्मा, डाॅ. छत्रपाल चन्द्रकार, डाॅ अनिरूद्ध कसार, डाॅ. मुकुन्द राव घोड़ेसवार उपस्थित थे ।