महासमुंद  :-  कलेक्टर की अध्यक्षता में समय-सीमा की बैठक

 | 
1

कलेक्टर डोमन सिंह ने आज समय-सीमा की बैठक में राज्य शासन की फ्लैगशिप योजनाओं नरवा-गरवा-घुरूवा-बाड़ी, मुख्यमंत्री सुपोषण योजना, मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना, वनाधिकार पट्टा, मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना, राजस्व प्रकरणों के निराकरण, जिले के जलाशयों में जल भराव की स्थिति और खरीफ फसल हेतु छोड़े जाने वाले सिंचाई पानी के साथ ही राम वन गमन पथ की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना के तहत् जिले में 99 हाट बाजारों को चिन्हांकित किया गया है। ताकि व्यक्तियों के स्वास्थ्य जॉच और मरीजों को हाट बाजार स्थल पर ही निःशुल्क चिकित्सकीय स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध हो सकें। उन्होंने कहा कि हाट बाजार क्लिनिक में नामांकित चिकित्सा दल आवश्यक दवाईयॉ, उपचार उपकरण व आवश्यक लैब जॉच किट के साथ उपस्थित रहें। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही क्लिनिक स्थल पर बैठने की सभी जरूरी व्यवस्था और पेयजल की भी व्यवस्था हो यह सुनिश्चित करें।
कलेक्टर ने कहा कि जिले के अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) एवं अन्य अधिकारी अपने भ्रमण के दौरान हाट बाजार में लगने वाले शिविरों का भी अवलोकरन किया करें। उन्होंने कहा कि लम्बित प्रकरणों का गुण-दोष के आधार पर जल्द निराकरण करें। बैठक आज यहां कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में हुई। कलेक्टर ने राजीव गांधी ग्रामीण कृषि मजदूर न्याय योजना में की गई तैयारियों के संबंध में भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। यह योजना आगामी 1 सितम्बर से 30 नवम्बर 2021 तक है। इच्छुक हितग्राही इस योजना का आवेदन निर्धारित प्रारूप में ग्राम सचिव के पास जमा करा सकते है। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री आकाश छिकारा, संयुक्त कलेक्टर  सुनील कुमार चंद्रवंशी एवं डिप्टी कलेक्टर सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित थे।
कलेक्टर  डोमन सिंह ने कहा कि जिले के जलाशयों में जल भराव की स्थिति को देखते हुए खरीफ सिंचाई के लिए पानी छोड़ने की जानकारी ली। जल संसाधन के अधिकारियों ने बताया कि जिले के सबसे बड़े कोडार जलाशय से खरीफ फसल की सिंचाई हेतु 13 अगस्त से पानी छोड़ा गया है। उन्होंने जिले के गौठानों को स्वावलंबी-आदर्श गौठान के रूप में स्थापित करने की बात कही। कलेक्टर श्री सिंह ने गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट निर्माण, चारागाह के लिए व्यवस्था, स्व-सहायता समूह की आर्थिक गतिविधियॉ सहित अन्य मापदंड जो स्वावलंबी गौठान के लिए निर्धारित किए गए है, उनका क्रियान्वयन सुनिश्चित करने कहा। कलेक्टर ने कहा कि वर्मी कम्पोस्ट खाद विक्रय की राशि नियमित रूप से वर्मी कम्पोस्ट बनाने वाली महिला स्व-सहायता समूह को समय पर मिलें यह ध्यान रखा जाए।
उन्होंने राजस्व न्यायालय में लम्बित पुराने प्रकरणों को प्राथमिकता के साथ निपटाने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि शासन की सभी महत्वाकांक्षी योजनाओं की समीक्षा उच्च अधिकारियों द्वारा की जाती है। अतः फ्लैगशिप योजनाओं को शत्-प्रतिशत् लक्ष्य अनुसार सफलता के साथ क्रियान्वित करें। उन्होंने राम वन गमन पथ की किए जा रहें कार्यों को तय समय-सीमा में पूरा करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत् ऑगनबाड़ियांे में गर्म भोजन की भी जानकारी ली।