महासमुंद :-  अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस पर सम्मान समारोह आयोजित

 | 
1

साक्षरता मिशन प्राधिकरण समिति के तत्वाधान में अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस आयोजित सम्मान समारोह में बतौर मुख्य अतिथि संसदीय सचिव व विधायक विनोद सेवनलाल चंद्राकर ने साक्षर हुईं महिलाओं, स्वयंसेवी शिक्षक व सर्वेकर्ता शिक्षकों को साल-श्रीफल व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि समाज के विकास के लिए साक्षरता जरूरी है।
आज बुधवार को शासकीय डीएमएस स्कूल में साक्षरता मिशन प्राधिकरण समिति के तत्वाधान में अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस के अवसर पर सम्मान समारोह व संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसके मुख्य अतिथि संसदीय सचिव व विधायक  चंद्राकर थे। अध्यक्षता जनपद अध्यक्ष यतेंद्र साहू ने की। विशेष अतिथि के रूप में जनपद सदस्य कुणाल चंद्राकर, रेखराज शर्मा, जागेश्वर सिन्हा, रेखराज साहू मौजूद थे। मां सरस्वती की पूजा-अर्चना के बाद कार्यक्रम की शुरूआत हुई। बाद इसके कुमारी निषाद, सोनिया यादव, रोशनी यादव, हीराबाई साहू सहित स्वयंसेवी शिक्षक पायल सिन्हा, हिना सिन्हा, सायरा बानो, सुजाता मेश्राम, कांति सोनी, अर्पिता सोनी, दीपक ध्रुव, काजल जगत, दामिनी जगत, चंपा पटेल, अंजलि यादव, जानकी बेलदार, रोशनी चंद्राकर, शिवम जांगड़े, संतोषी वर्मा, सरोज चंद्राकर, लक्ष्मी चंद्राकर, पुष्पांजलि निर्मलकर, बरखा निर्मलकर, भूमिका निर्मलकर, काजल वर्मा, कविता यादव, रूखमणी साहू, कीर्ति चंद्राकर, उषा चंद्राकर, भारती निर्मलकर, पुष्कर चंद्राकर, तनुज कुमार, तुलसी सहीस, कलशराम, मांडवी साहू, मनीषा चंद्राकर का सम्मान किया गया। अपने संबोधन में संसदीय सचिव व विधायक श्री चंद्राकर ने शिक्षा की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि समाज के विकास के लिए साक्षरता जरूरी है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति या समाज साक्षर है वह व्यक्ति व समाज सफल हैं। मानव विकास व समाज के लिए साक्षरता का बड़ा ही महत्व है। समाज में समानता, सफल जीवन जीने के साथ ही समाज में फैले सामाजिक बुराईयों को जड़ से खत्म करने के लिए साक्षरता जरूरी है। उन्होंने कहा कि वर्तमान युग में शिक्षा बहुत जरूरी है। शिक्षा हमारे जीवन का आवश्यक अंग है। जब देश का हर नागरिक साक्षर होगा तभी देश की तरक्की हो सकेगी। शिक्षा इंसान को जीवन के सभी अंधेरों से बाहर निकाल कर एक बेहतर भविष्य की ओर अग्रसर करता है। कार्यक्रम का संचालन शिक्षक ईश्वर चंद्राकर ने किया। कार्य्रकम में प्रमुख रूप से नोडिल अधिकारी खेमीन साहू, सहायक नोडल अधिकारी भारती सोनी, समन्वयक पवन साहू रशीद कुरैशी, श्रीमती कांति सोनी, संतोषी वर्मा, सरोज चंद्राकर उपस्थित रहे।