पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राष्ट्रीय जनजाति आयोग के पूर्व अध्यक्ष नंद कुमार साय ने प्रेस क्लब पहुंचकर की प्रेस वार्ता

 | 
1


विपुल कनैया: छत्तीसगढ़ के बीजापुर के सिलगेर में कथित तौर पर नक्सलियों के साथ हुई पुलिस मुठभेड़ पर की चर्चा बातचीत के जरिए नक्सली समस्या का हो निदान।

भाजपा पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राष्ट्रीय जनजाति आयोग के पूर्व अध्यक्ष नंदकुमार साय ने राजनांदगांव प्रेस क्लब पहुंचकर बीजापुर के सिलगेर मैं कथित नक्सलियों के साथ पुलिस की हुई मुठभेड़ पर सवाल उठाते हुए इसकी जांच की मांग की है बता दें कि इस घटना में 3 लोगों की मौत हुई थी और कई लोग घायल हुए थे उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि सिलगेर मुठभेड़ में नक्सलियों की जगह निर्दोष ग्रामीण मारे गए हैं राज्य में नक्सली समस्या के समाधान के लिए सभी पक्षों शासन-प्रशासन जनजाति समाज के प्रमुख को और नक्सलियों को लीडर को बात करनी चाहिए जिससे इस समस्या का हल हो सके उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि सिलगेर मैं ग्रामीण सीआरपीएफ के कैंप का विरोध कर रहे थे ग्रामीणों का कहना था कि सीआरपीएफ के जवानों के द्वारा ग्रामीणों के साथ लूटपाट दुष्कर्म और अत्याचार किया जाता है लेकिन पुलिस ने ग्रामीणों को नक्सली बताकर उन पर फायरिंग कर दी जिसमें 3 ग्रामीणों की मौत हो गई और 20 से ज्यादा लोग घायल हुए वहीं इस मामले की निष्पक्ष जांच की बात करते हुए नक्सली समस्या का समाधान बातचीत के जरिए हल करने की बात भाजपा के पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राष्ट्रीय जनजाति आयोग के पूर्व अध्यक्ष नंदकुमार साय ने कही।