पखांजुर :-  पखांजुर को जिला बनाने की मांग को लेकर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने सौंपा ज्ञापन

 | 
1

प्रदेश में नए जिलों की घोषणा के बाद पखांजूर को भी जिला बनाने की मांग तेज हो रही है। बुधवार को पखांजूर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष पंकज के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। पखांजूर के नागरिक लंबे समय से जिला बनाने की मांग को लेकर संघर्ष करते आ रहे हैं। किंतु गोंडाहुर क्षेत्र के समीप राजनांदगांव से पहली बार मानपुर-मोहला-चौकी को नवीन जिला की घोषणा हुई है। जिससे पखांजूर की फिर से उपेक्षा हुई है। इसलिए जिला बनाने की मांग को लेकर फिर से संघर्ष शुरू किया जाएगा।

सभा के पहले चरण में कांग्रेसियों के द्वारा ज्ञापन सौंपकर अवगत कराया गया है। पंकज साहा ने कहा मांग के बाद शासन की ओर से जवाब नहीं मिलने पर विशाल सभा का आयोजन किया जाएगा। पंकज साहा ने कहा पखांजूर क्षेत्र के कई गांव महाराष्ट्र बॉर्डर से लगा हुआ है तथा वनांचल गांव के लोगों को जिला मुख्यालय जाने के लिए 200 किलोमीटर तय करना पड़ता है। पंकज साहा ने कहा दुर्गकुंदल ब्लॉक के कई गांव से पखांजूर मुख्यालय की दूरी महज 20 किलोमीटर ही है। ऐसे में वे सभी गांव भी पखांजूर में शामिल हो सकते है।

ज्ञापन में कई बिंदुओं को भी प्रमुखता से प्रदर्शित किया गया है जैसे -

1.पखांजूर क्षेत्र के दर्जनों गांव, पंचायत जिला मुख्यालय कांकेर से करीब 200 किलोमीटर दूर स्तिथ है ।

2.साथ ही जनसंख्या की दृष्टि से पखांजूर की भानुप्रतापपुर और अंतागढ़ दोनों ब्लॉकों से ज्यादा आबादी है ।

3.साथ ही यह बात भी दर्शाई गई की पब्लिक ट्रांसपोर्ट से जिला मुख्यालय कांकेर पहुंचने के लिए ग्रामीणों को आने जाने के लिए करीबन 400 रुपए प्रति व्यक्ति व्यय करना पड़ता है ।

4.पखांजूर यदि जिला बनता है तो इससे परलकोट क्षेत्र के जैसे संगम, प्रतापपुर, कापसी बांदे, कोरेनार, इरपनार, छोटे बेटिया, बारदा, गोंडाहुर जैसे इनके आस पास के दर्जनों गांव, पंचायतों सहित हजारों लोगो को आर्थिक और सामाजिक दृष्टि से सुविधा प्राप्त होगी ।

ज्ञापन सौंपने के दौरान ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष पंकज साहा सहित परलकोट क्षेत्र के सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद रहे ।