पखांजुर :-  भाजपा द्वारा पत्रकारों को नोटिस भेजना दुर्भाग्यपूर्ण - अनूप नाग विधायक अन्तागढ़

 | 
1

भारतीय जनता पार्टी द्वारा एक प्रेस विज्ञपत्ति को आधार बनाकर अन्तागढ़ सहित जिले के कुछ पत्रकारों को कानूनी नोटिस भेजा जाना दुर्भाग्यपूर्ण है, यह भाजपा की हताशा को साफ दर्शा रहा है, ये बातें अन्तागढ़ के विधायक अनूप नाग ने प्रेस विज्ञपत्ति जारी कर कही हैं।

विधायक अनूप नाग ने कहा कि एक6 तरफ भाजपा केंद्र में शासन करते हुवे  लोकतंत्र के चौथे स्तंभ प्रेस की आज़ादी को कुचल रही है वहीं छत्तीसगढ़ में भाजपा के नेता कांग्रेस के बढ़ते जनाधार से बेचैन है और क्षेत्र की बातों को लोगों के बीच लाने वाले मीडिया के साथियों को कानूनी नोटिस भेजकर डराने और अपमानित करने की कोशिश कर रहे है।

विधायक अनूप नाग ने कहा कि क्षेत्र में लोगों का भाजपा से मोह भंग हो चुका है जिसकी वजह से वो भाजपा छोड़कर कांग्रेस की नीति से प्रभावित होकर कांग्रेस में लगातार शामिल हो रहे हैं जिससे भाजपा के लोग घबरा गए है, अब यदि लोग भाजपा से कांग्रेस में शामिल हो रहे है और इस बात को पत्रकार साथी  समाचार एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से  लोगों के बीच ला रहे हैं तो इसमें क्या गलत है ऐसे में भाजपा नेता पत्रकार साथियों को कानूनी नोटिस भेज रहे है, भाजपा का ऐसा करना खिसियानी बिल्ली खम्बा नोचे वाली कहावत को चरितार्थ करता है।

कांग्रेस पार्टी हमेशा देश के संविधान में निहित भावनाओं की कद्र करती है और हमारे संविधान ने हमे अपने विचारों को रखने की स्वतंत्रता दी है, प्रेस द्वारा हम अपने विचारों को समाज के लोगों तक पहुचाते हैं किन्तु भाजपा द्वारा संविधान द्वारा दिये गए मूलभूत अधिकारों का हनन किया जा रहा है, केंद्र में बैठी भाजपा की सरकार द्वारा कई पत्रकारों को जो सच को समाज के बीच लाने का कार्य कर रहे थे उन्हें सत्ता का दुरुपयोग कर जेलों में डाल रही है, किन्तु छत्तीसगढ़ राज्य में कांग्रेस की सरकार है और यहाँ सच बोलना और सच लिखने में किसी को कोई नही रोक सकता ।

विधायक अनूप नाग ने कहा कि मैं और कांग्रेस पार्टी पत्रकारों के साथ हमेशा खड़ी है, भाजपा द्वारा भेजे गए नोटिस में पत्रकारों से माफी मांगने की  बात कही है जो निंदनीय है और मैं कड़े शब्दों में इसकी निंदा करता हूँ, विधायक अनूप नाग ने कहा कि पत्रकार साथियों का मेरे रहते किसी भी प्रकार से अहित होने नही दिया जाएगा।
स्वतंत्र भारत के इतिहास में पहली बार  ऐसी भाजपा सरकार आई है जो लगातार देश के चौथे स्तंभ पर हमले कर रही है, लोगों को सच लिखने की सज़ा दी जा रही है, जो लोग भाजपा नीतियों का विरोध देश हित मे करते हैं उन्हें वो आतंकी या नक्सली बताकर जेलों में डाल रही है, संविधान द्वारा दिये गए मूलभूत अधिकारों से लोगों को वंचित करने की सोची समझी साज़िस भाजपा द्वारा की जा रही है जिसका मैं और पूरी कांग्रेस पार्टी कड़े शब्दों में निंदा करती है।
अनूप नाग ने कहा है भाजपा को अगर नोटिस भेजना है तो मुझे भेजे और मैं उनके नोटिस का जवाब दूंगा, भाजपा खुद अपने घर को बचा नही पा रही है, लोग कांग्रेस की नीतियों से प्रभावित होकर जुड़ रहे हैं तो इन्हें परेशानी हो रही है, पिछले 15 सालों में अगर भाजपा ने जनहित में कार्य किये होते और लोगों के दुख दर्द में भाजपा के विधायक और नेता शामिल होते तो आज भाजपा के लिए ऐसी स्थिति नही आती, पिछले 15 सालों के भाजपा के शासन में उनके प्रतिनिधियों द्वारा क्षेत्र की जो उपेक्षा की गई है उसका खामियाजा आज के युवाओं को झेलना पड़ रहा है, पत्रकारों को डराने धमकाने के बदले भाजपा खुद अपने गिरेबान में झांके तो बेहतर है, कांग्रेस में शामिल होने वाले लोग किसी दबाव या किसी डर की वजह से नही आ रहे हैं वो हमारी नीतियों से प्रभावित होकर हमसे जुड़ रहे है

क्या है मामला
बता दें विगत दिनों ग्राम बोंदानार के कुछ लोगों ने कांग्रेस एवं विधायक अनूप नाग की कार्यशैली से प्रभावित होकर अन्तागढ़ विधायक कार्यालय में आकर कांग्रेस प्रवेश किया था, विधायक कार्यालय एवं वहां उपस्थित पत्रकारों ने इस विषय को समाचार पत्रों एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में प्रमुखता से प्रकाशित किया, चूंकि ग्राम बोंदनार पूर्व विधायक एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी का गृह ग्राम भी है, प्रेस विज्ञपत्ति एवं समाचारों में इस विषय को भी प्रमुखता से प्रकाशित किया गया कि पूर्व विधायक विक्रम उसेंडी के ग्राम के लोगों ने कांग्रेस का दामन थामा, इसी समाचार एवं विज्ञपत्ति को आधार बनाकर मण्डल अध्यक्ष जितेंद्र  मरकाम द्वारा अन्तागढ़ सहित जिले के कुछ पत्रकारों के पास लीगल नोटिस भेजा है एवं सार्वजनिक माफी मांगने की बात या मानहानि जैसे मुकदमे की धमकी दी गई है।

इस मामले को लेकर अन्तागढ़ भानुप्रतापपुर कांकेर सहित बस्तर संभाग के पत्रकार संघ सामने आ गए हैं और भाजपा द्वारा भेजे गए नोटिस के खिलाफ निंदा प्रस्ताव सहित भाजपा से समाचारों का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है।