पिथौरा :-  जंगली सूअर का शिकार के मामले में एक आरोपी गिरफ्तार एवं एक अन्य फरार, तलाश जारी

 | 
1

 जे. आर. नायक, मुख्य वन संरक्षक, रायपुर वृत्त रायपुर एवं  पंकज राजपूत, वनमण्डलाधिकारी महासमुन्द के निर्देशन एवं उप वनमण्डलाधिकारी श्री यू.आर. बसंत के कुशल मार्गदर्शन में आज दिनांक 02.09.2021 को श्री हेमराज वल्द संतराम बरिहा, जाति बिंझवार, ग्राम लारीपुर, थाना सांकरा निवासी के घर में जाकर आरोपी के निशानदेही पर वन्यप्राणी जंगली सुअर का जबड़ा, पैर, अंतड़ी, अधपका मांश, जे.आई. तार 2 कि.ग्रा. लकड़ी की खूंटी 12 नग, कांच की शीशी 80 नग, हंसिया 1 नग, कत्तल 1 नग, लकड़ी का गुटका 1 नग को जप्त कर पी.ओ.आर. नंबर 14412/01 दिनांक 02.09.2021 जारी कर वन्यप्राणी (संरक्षण) अधिनियम 1972 की धारा 9, 39, 50, 51 के तहत कार्यवाही कर कल दिनांक 03.09.2021 को माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी न्यायालय पिथौरा के समक्ष पेश किया जावेगा। उक्त प्रकरण में संलिप्त अन्य 1 आरोपी फरार है, जिसकी तलाशी की जा रही है। वहीं दूसरी ओर पिथौरा परिक्षेत्र अंतर्गत कक्ष क्र. 221 में श्री मनोज वल्द हंसदास, जाति पनका निवासी ग्राम बुन्देली, चौकी बुन्देली को वन भूमि में किये गये अतिक्रमण से हटाकर भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 33 एवं लोक सम्पत्ति क्षति निवारण अधिनियम 1984 की धारा 3 (1) के तहत कार्यवाही कर पी.ओ.आर. नंबर 14413/01 दिनांक 02.09.2021 जारी की कार्यवाही किया गया तथा आरोपी को दिनांक 03.09.2021 को माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट पिथौरा के समक्ष पेश किया जावेगा। उक्त अतिक्रमण को हटाने में उप वनमण्डलाधिकारी पिथौरा श्री यू. आर. बसंत, प्रभारी परिक्षेत्र अधिकारी श्री एस. आर. निराला, सहायक परिक्षेत्र अधिकारी श्री छबिराम साहू, समस्त परिक्षेत्र सहायक, समस्त परिसर रक्षी एवं वन प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्री विमलदास महंत एवं सदस्य साथ ही सरपंच ग्राम पंचायत बुन्देली तथा गौठान समिति के अध्यक्ष का विशेष योगदान रहा।