रायगढ़:वर्मी खाद उत्पादन में सारंगढ़ के 4 गोठान शामिल..एसडीएम, सीईओ के मार्गदर्शन और कृषि विभाग की मेहनत लाई रंग

 | 
1

सारंगढ की विशेष पहचान पान,पानी और और पालगी के साथ खेती-किसानी अर्थात कृषि भी रही है। प्रशासनिक अधिकारियोंबके मार्गदर्शन और कृषि विभाग के प्रयासों से सारंगढ आगे भी अपनी श्रेष्ठता बनाये रखा है।

हर्ष की बात है जिला रायगढ टॉप टेन वर्मी खाद उत्पादन में सारंगढ़ से सर्वाधिक चार गोठानो पहंदा, खम्हारपाली, डौकीजोर (सिरोली), तथा साल्हे गोठानो का नाम आना सुखद अनुभूति प्रदान करता है। इसके साथ ही 28 फरवरी तक न्यूनतम 500 क्विंटल खरीदी पर खाद उत्पादन करने पर चांटीपाली तथा बोइरडीह का भी चयन हुवा है।

अपनी इस उपलब्धि के लिए सारंगढ के प्रभारी एस.ए.डी.ओ. ज्ञानी राम जोल्हे ने एसडीएम चौबे, जनपद सीईओ अभिषेक बैनर्जी, अनुविभागीय कृषि अधिकारी डी. एस. तोमर, के मार्गदर्शन औऱ गोठान के ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, गोठाननोडल, सचिव, गोठान प्रबंधन समिति,स्व सहायता समूह के समस्त सदस्यों अथक प्रयास को दिया है। जोल्हे ने विश्वास दिलाया है कि सारंगढ आगे भी अपनी श्रेष्ठता बनाये रखेगा।