रायगढ़ :-  कोविड की संभावित तीसरी लहर से लड़ने की सारी तैयारियां पूर्ण 
 

 | 
1

रायगढ़ जिले के कोविड के पहले डोज के मामले में पूर्ण टीकाकृत पहले जिले का गौरव मिलने के बाद कलेक्टर भीम सिंह ने पहली बार प्रेसवार्ता की। जिसमें उन्होंने बताया, “जिले में पहला डोज सभी को लगाने के पीछे किसी एक की मेहनत नहीं बल्कि यह साझा सहयोग था। जनप्रतिनिधियों, स्वास्थ्य महकमा, सरकारी अधिकारी-कर्मचारी समेत कई अन्य लोगों का इसमें योगदान था। कोविड के दूसरे डोज के मामले में भी जिला राज्य के बाकी जिलों से बेहतर स्थिति में है। जबकि जिले की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि यहां कई दुर्गम क्षेत्र हैं आदिवासी समुदाय हैं फिर भी हमारे लोगों ने विकट परिस्थितियों में अपना काम इमानदारी से पूरा किया है। जल्द ही दूसरे डोज के लिए भी महा अभियान चलाया जाएगा इसकी तैयारी की जा रही है। कोविड काल में और वैक्सीनेशन ड्राइव में जिले की मीडिया का बहुत बड़ा रोल रहा है उन्होंने लोगों को वैक्सीन के लिए जागरूक किया और कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन करने के लिए लगातार खबरें लिखीं हैं “।

कलेक्टर भीम सिंह ने बताया, “शत प्रतिशत वैक्सीन होने पर जिले का मान बढ़ा है। राज्य स्तर पर जिले को शाबाशी तो मिली ही है साथ ही अब रायगढ़ की इस उपलब्धि को मसूरी स्थित ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी स्टडी के रूप में भी शामिल किया जाएगा। प्रेस वार्ता में कलेक्टर भीम सिंह ने बताया, कोरोना की संभावित तीसरी लहर का सामना करने के लिए जिला पूरी तरह से तैयार है। मदर एंड चाइल्ड हॉस्पिटल (एमसीएच) को पूरी तरह से बच्चों के लिए बना दिया गया है जिसमें सभी बेड ऑक्सीजनयुक्त है। इसी तरह सभी सीएसची में 50 बेड ऑक्सीजनयुक्त वाले हैं। जिले के लगभग सभी लोगों को जब टीका लग गया है तो ऐसे में बाहरी लोगों पर खास नजर रखी जा रही है। उद्योगों में बाहर काम करने आने वालों लोगों से संक्रमण फैलने का खतरा ज्यादा है इसलिए इसकी सतत निगरानी की जा रही है”।
पहला मास्क फ्री जिला होने के सवाल पर डीएम भीम सिंह ने कहा, “कोविड के लिए गाइडलाइंस केंद्र सरकार से तय होती है राज्य सरकार के निर्देशों के अनुसार हम कार्य करते हैं। फिलहाल ऐसी कोई जानकारी या सूचना नहीं है हम निर्देशों का पालन कर रहे हैं। हम दूसरा डोज और संभावित तीसरी लहर के बारे में ज्यादा संजीदा हैं”।