रायगढ़ :-  शहर में घूमने वाले मवेशियों को भेजा जाएगा संबलपुरी गौठान मालिकों पर नियमानुसार जुर्माने की कार्रवाई की जाएगी

 | 
1

रोका छेका अभियान के तहत शहर के गली-मोहल्ले व सड़क पर घूमने वाले मवेशियों पर नगर निगम प्रशासन द्वारा कार्रवाई की जाएगी। इसपर मवेशी मालिकों के ऊपर नियमानुसार जुर्माना भी किया जाएगा।राज्य शासन ने 30 जून से राज्य भर के खेतों में लगने वाले फसलों को मवेशियों से बचाने के लिए रोका छेका अभियान की घोषणा की है। इसे देखते हुए निगम प्रशासन ने भी सड़कों और गली मोहल्ले में खुले रूप में घूमने वाले मवेशियों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मेयर श्रीमती जानकी काटजू ने कहा कि वर्तमान समय खेती किसानी का समय है। इसलिए मवेशी पलकों को अपने घरों में ही बांध कर मवेशियों को रखना चाहिए। मवेशियों के सड़कों पर घूमने व बैठने की स्थिति में यातायात एवं आवाजाही में संबंधित मोहल्लेवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

निगम प्रशासन द्वारा शासन के तहत गाइडलाइन के अनुसार निगम क्षेत्र में खुले रुप में घूमने वाले मवेशियों को पकड़कर संबलपुरी गौठान में रखने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए शहर भर में मवेशियों को पकड़ने की कार्यवाही भी तेज कर दी गई है। संबलपुरी गौठान पहुंचने के बाद मवेशियों को सुरक्षित रखने के साथ खानपान पर भी ध्यान दिया जाएगा। गौठान से मवेशियों को छुड़ाने पर शासन द्वारा तय दिशा निर्देश के तहत पर मवेशी पलकों के खिलाफ जुर्माने की कार्यवाही की जाएगी। निगम की टीम द्वारा मवेशियों को पकड़ने और संबलपुरी गौठान ले जाने की कार्रवाई हर रोज की जा रही है। इसमें मवेशी पलकों पर कांजीहाउस की तरह जुर्माने की भी कार्रवाई की जाएगी। शासन के नियमानुसार मवेशी मालिकों के ऊपर अमानत राशि 125 रुपए, दंड 150 रुपए और खुराक 350 रुपए के हिसाब से जुर्माना कार्यवाही की जाएगी। प्रतिदिन 350 रुपए खुराक के हिसाब से मवेशी मालिकों से जुर्माना लिया जाएगा।