रायगढ़:कोविड प्रोटोकॉल और  नियमों के पालन को लेकर उद्योगों की लगातार करें जांच-कलेक्टर ने ली समय-सीमा की बैठक  

 | 
1

रायगढ़, उद्योगों द्वारा कोविड गाईड लाईन तथा क्वारेंटीन नियमों का पालन की लगातार जांच करें। पिछले दिनों अधिक केसेस वाले गांव के सरपंचों से हुई चर्चा में उन्होंने बताया कि औद्योगिक क्षेत्रों के समीप स्थित गांवों में मामले ज्यादा बढ़े है। इसको लेकर हमें पूरी सावधानी और सतर्कता बरतनी है। उक्त बातें कलेक्टर श्री भीम सिंह ने आज समय-सीमा की बैठक के दौरान कही। कलेक्टर सिंह ने उद्योग अधिकारी तथा सभी एसडीएम को उनके क्षेत्रान्तर्गत स्थित उद्योगों में अनुमति प्राप्त संख्या में ही लोग आ रहे हैं, तथा बाहर से आने वालों को क्वारेन्टीन किया जा रहा अथवा नहीं इसकी जांच करने के लिए कहा। उल्लंघन करने वालों पर कार्यवाही के निर्देश दिये।
कलेक्टर भीम सिंह ने कहा कि कोविड नियंत्रण के लिये शादियों तथा अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में अनुमति प्राप्त संख्या में ही लोग शामिल हो। संबंधित गांव के पटवारी, सचिव, शिक्षकों की ड्यूटी इसकी निरीक्षण में लगायें। अनुमति से अधिक संख्या में शामिल होने वाले कार्यक्रम के आयोजकों पर कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। गांवों में कोविड गाइडलाइन्स का पालन सुनिश्चित करवाएं। मनरेगा में काम करने वाले श्रमिक मास्क पहनने, सोशल डिस्टेटिंग तथा नियमित हाथ धोने जैसे नियमों का पालन करें। उन्होंने सभी एसडीएम, नगर निकाय के अधिकारी एवं पुलिस विभाग को लगातार मास्क जांच अभियान चलाने के निर्देश दिये। बिना मास्क के निकलने वालों पर जुर्माने की कार्यवाही करने के लिए कहा।
कलेक्टर भीम सिंह ने बैठक के दौरान जिला तथा विकासखण्ड मुख्यालय के कोविड अस्पतालों में बढ़ाई जा रही सुविधाओं की समीक्षा की। उन्होंने विकासखण्ड स्तरीय अस्पतालों में नान इनवेसीव वेंटीलेटर बाईपेप मशीन दिये जाने तथा उसके उपयोग के संबंध में जानकारी ली। उन्होंने बताया कि अभी हमारे पास 250 फ्लोमीटर आ चुका है तथा 500 आने वाले है, इससे आने वाले समय में ऑक्सीजन बेड बढ़ाने के लिए पर्याप्त संख्या में फ्लोमीटर की व्यवस्था है। कलेक्टर सिंह ने बैठक में टेस्टिंग की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि पूरे जिले में सभी जगहों पर उन्हें मिले टेस्टिंग लक्ष्यों को प्रतिदिन शत-प्रतिशत पूरा करना है। उन्होंने सभी बीएमओ से रिप्रेजेन्टेटिव सेम्पल लेनेे के लिये कहा। उन्होंने होम आईसोलेशन के बारे में जानकारी ली। होम आइसोलेटेड मरीजों के नियमित हेल्थ अपडेट लेने व ऑक्सीजन सेचुरेशन 94 से कम होने पर तत्काल अस्पताल शिफ्ट करने के निर्देश दिए। सभी राजस्व अधिकारियों को दस-दस होम आईसोलेटेड मरीजों के घरों में जाकर निरीक्षण कर उनके द्वारा नियमों का पालन किया जा रहा है या नही यह देखने के लिए कहा।
कलेक्टर भीम सिंह ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा की। उन्होंने सरिया नगर पंचायत के अंतर्गत शहरी गौठान में गोबर वर्मी पिट नहीं डालने के कारण वहां के सीएमओ को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी शहरी गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट के उत्पादन तथा बिक्री को बढ़ाने के निर्देश दिये। इसके साथ ही उन्होंने सभी विकासखण्डों में 01 जून से 3-3 नये गोठानों में गोधन न्याय योजना का संचालन प्रारंभ करने के निर्देश सभी सीईओ जनपद को दिये। उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देशित करते हुये कहा कि जिन गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन कम है उनका चिन्हांकन कर वहां के नोडल तथा गौठान समिति की बैठक ले तथा वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन बढ़ाने की दिशा में काम करें। उन्होंने सभी सहकारी समितियों में वर्मी कम्पोस्ट रखवाने के निर्देश दिये। इसके साथ ही बीज का भंडारण करने के निर्देश दिये। कलेक्टर सिंह ने खरीफ  गिरदावरी शुरू होने के पूर्व सभी पटवारियों को अभिलेख दुरूस्ती का काम पूरा करने के निर्देश दिये।
कलेक्टर भीम सिंह ने शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के संचालन की जानकारी ली। इसके साथ ही उन्होंने श्रमिकों के लेबर कार्ड निर्माण के बारे में भी श्रम अधिकारी से जानकारी ली। उन्होंने बाहर से आने वाले श्रमिकों की जानकारी नियमित रूप से उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। कलेक्टर भीम सिंह ने सभी विकासखण्ड मुख्यालयों में निर्माणाधीन स्वामी आत्मानंद विद्यालय के निर्माण कार्य को जल्द पूरा करने के निर्देश दिये।
इस दौरान एडीएम श्री राजेन्द्र कटारा, सीईओ जिला पंचायत डॉ.रवि मित्तल, डीएफओ रायगढ़ श्री प्रणय मिश्रा, डीएफओ धरमजयगढ़ मणिवासगन एस, अपर कलेक्टर आर.ए.कुरूवंशी, नगर निगम आयुक्त श्री आशुतोष पाण्डेय, सीएमएचओ डॉ.एस.एन.केशरी सहित जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।