रायगढ़: उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल की पहल पर कर्नाटक में बंधक श्रमिक परिवारों की जल्द होगी सकुशल वापसी 

 | 
1
रिपोर्ट- लक्ष्मण वैष्णव
रायगढ़। बीते दिनों पुसौर ब्लॉक के बुनगा गांव के एक दर्जन से अधिक ग्रामीणों के कर्नाटक के कोलार जिले के श्रीनिवासपुर गांव में एक ठेकेदार द्वारा बंधक बना लिए जाने की सूचना मिली थी। उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए कलेक्टर भीम सिंह को ग्रामीणों के सकुशल वापसी के लिए निर्देशित किया। कलेक्टर भीम सिंह ने मामले के संज्ञान में आते ही तत्काल कलेक्टर कोलार से बात कर जिले के ग्रामीणों के वहां बंधक बना लिए जाने के बारे में उन्हें अवगत कराया तथा शीघ्र सभी लोगों को रिहा करवाते हुए रायगढ़ भेजने की व्यवस्था का अनुरोध किया। जिसके पश्चात कलेक्टर कोलार ने वहां के श्रम अधिकारी को श्रीनिवासपुर जाकर ग्रामीणों की जल्द रिहाई के लिए कहा। अगले 1 से 2 दिनों में जिले के ग्रामीणों की वहां से वापसी हो जाएगी। कलेक्टर श्री सिंह ने वहां फंसे ग्रामीणों से भी बात की और उन्हें बताया कि स्थानीय प्रशासन को सारी सूचना दे दी गयी है उनकी सहायता से सभी ग्रामीणों की जल्द वापसी हो जाएगी।
उल्लेखनीय है कि पुसौर ब्लाक के बुनगा गांव से 6 पुरूष, 6 महिलाएं व 7 बच्चे कर्नाटक के श्रीनिवासपुर गांव एक ठेकेदार के माध्यम से काम की तलाश में कर्नाटक पहुंचे थे। जिन्हें वहां उक्त ठेकेदार द्वारा बंधक बना लिया गया था। पुसौर ब्लाक के पुनीराम, सोनीनाथ सहित अन्य लोगों ने यह जानकारी जिला प्रशासन से साझा की। जिसमें उन्होंने बताया कि गांव के मधुसुदन रजक, पद्मा रजक, दिपेश कुमार, लक्ष्मीकांत रजक, मातेश्वरी, खुशहाल, छीतीज, थकीर रजक, जमुना रजक, मयंक, दुर्बल निषाद, पार्वती, प्रियंका, संजय कुमार, कुंद्रा बरेठ, सोमेस कुमार, जत्तु बाई एवं ओम प्रकाश को कर्नाटक में ठेकेदार द्वारा बंधक बना लिया गया है।