रायगढ़ : जाते-जाते 55 और लोगों के चेहरों पर मुस्कान दे गए एसपी संतोष कुमार,

 | 
1

रिपोर्ट - लक्ष्मण वैष्णव

रायगढ़ :चोरी और गुम हुए 55 मोबाइल बरामद कर लोगों को किया वापस, अब तक 70 लाख रुपए के मोबाइल बरामद कर असल मालिकों को लौटा चुकी है रायगढ़ पुलिस…

रायगढ़। मोबाइल गुम हो गया है तो पुलिस को सूचना देना महज औपचारिकता ही समझी जाती थी लेकिन, रायगढ़ एसपी संतोष कुमार सिंह के रायगढ़ में पदस्थापना के बाद रायगढ़ वासियों की यह सोच बदल गई और उन्हें लगने लगा कि यदि मोबाइल गुम गया है या चोरी हो गया है तो पुलिस को सूचना देने पर वह उन्हें वापस मिल सकता है। जिले वासियों के इस विश्वास को कायम करने और बरकरार रखने के लिए पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह एवं उनकी टीम ने दिन रात मेहनत कर साइबर सेल के माध्यम से गुम चुके या चोरी हुए मोबाइलों को ट्रेस कर अब तक ₹7000000 से भी ज्यादा के मोबाइल ना केवल बरामद किए हैं बल्कि, उन बरामद किए मोबाइलों को मोबाइल के असल मालिकों के हवाले भी किया है। अब ऐसे में जबकि पुलिस अधीक्षक कोरिया जिले की कमान संभालने के लिए रवाना होने वाले हैं इस स्थिति में भी 55 लोगों को उनके गुमे हुए मोबाइल वापस कर चेहरों पर मुस्कान दे गए हैं।
पिछले एक माह के अंतराल में सायबर सेल रायगढ़ की टीम गुम/चोरी हुये 55 मोबाइल को ट्रेश कर प्राप्त करने में सफल रही । एसपी संतोष सिंह के दिशा निर्देशन पर सायबर सेल की टीम थाना, चौकियों को अपराध विवेचना में इलेक्ट्रानिक साक्ष्य उपलब्ध कराने, आरोपियों की पतासाजी व विवेचना में योगदान देने के साथ लगातार गुम/चोरी हुये मोबइलों को खोज निकालने में सफल रही है । करीब दो साल के अंतराल में ही सायबर सेल की टीम कुल 567 नग गुम/चोरी हुये मोबाइल को उसके असल स्वामी तक पहुंचाया जा चुका है । अब तक रिकवर हुये मोबइल की अनुमानित कीमत करीब 70 लाख से अधिक की है । आज पुन: एसपी संतोष सिंह द्वारा असल मोबाइल स्वामियों को उनके हाथों में गुम हुये मोबाइल दिया गया । जिन्हें सायबर की टीम दिगर प्रान्तों तथा राज्य के कई जिलों से कोरियर के माध्यम से मंगाया गया है । 55 नग रिकवर मोबाईलों में वीवो, रेडमी, सैमसंग, रियली मी, एम.आई., आदि के हैं । मोबाइल रिकव्हर में सायबर सेल के प्रधान आरक्षक राजेश पटेल, दुर्गेश सिंह, आरक्षक बृजलाल गुर्जर, प्रशांत पंडा, महिला आरक्षक मेनका चौहान की सराहनीय भूमिका रही है ।