रायगढ़ :-  सड़क दुर्घटना रोकने  उठाये आवश्यक कदम,शहरी यातायात व्यवस्था सुगम बनाने अतिक्रमण पर कार्रवाई के दिए निर्देश
 

 | 
1

रायगढ़,  जिले में सड़क दुर्घटना की संख्या में लगातार वृद्धि  हो रही हैं। इसको रोकने के लिए आवश्यक कार्यवाही के साथ ही शहरी यातायात व्यवस्था को सुगम और सुचारू बनाने के किये अतिक्रमण और सड़को में लगने वाले ठेला-गुमटियों को प्रतिस्थापित करने के निर्देश कलेक्टर श्री भीम सिंह ने सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में दी। साथ ही समिति द्वारा अब तक किये गए कार्यो की समीक्षा की।
कलेक्टर श्री भीम सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष के बैठक में ट्रैफिक डीएसपी श्री पुष्पेंद्र बघेल ने पूर्व बैठक की कार्यवाही विवरण और वर्तमान बैठक की एजेंडा पर चर्चा की। ट्रैफिक डीएसपी श्री बघेल ने बताया कि जिले में हुए दुर्घटना के आधार पर जिले में कुल 10 ब्लैक स्पॉट चिन्हांकित किया गया है। इस दौरान चिन्हांकित ब्लैक स्पॉट पर रोड मरम्मत, साइन बोर्ड और मार्किंग कराने की जरूरत बताई गई। जिस पर कलेक्टर श्री सिंह ने दिए गए सुझाव के तहत नेशनल हाइवे के कार्यपालन अभियंता को कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जिस पर उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग 153 पटेलपाली, कोडतराई, टिमरलगा, गुडेली एवं टेंगना पाली में संकेतक बोर्ड व रोड मार्किंग किया गया है। अन्य कार्यों को अतिशीघ्र पूर्ण कर दिया जाएगा।
इसी तरह वर्ष और माह वार सड़क दुर्घटना और उससे होने वाले मौत व घायल की स्थिति पर चर्चा की गई।  इसमें सबसे ज्यादा दुर्घटना ग्रामीण क्षेत्रों से दर्ज की गई। जहां आकस्मिक रूप से दोपहिया वाहनों को संख्या में वृद्धि हुई है। तेज गति से वाहन चलाते हुए वाहनों से टकराने अधिकांश दुर्घटना हुई है। इस पर वाहनों की गति को नियंत्रित करने उपाए अपनाने के सुझाव दिए गए। जिससे दुर्घटनाओं में कमी लायी जा सके। इसके साथ ही आरटीओ को लाइसेंस निरस्त और जप्त करने के निर्देश दिए।
इसी क्रम में शहरी यातायात को सुगम बनाने संबंधित एजेंडा पर चर्चा की गई। जिसमे ढिमरापुर चौक से चिराईपानी सड़क को मरम्मत, उदय टेलर तिराहा में बने ट्रायसेप रोड डिवाइडर को तोड़कर कम करने, शहर के मुख्य मार्गों से मोटर गैरेज संचालकों द्वारा किए गए अतिक्रमण के खिलाफ  कार्रवाई करने, मुख्य मार्ग पर संचालित गैरेज को चिराईपानी बेरियर के आगे और जिंदल बेरियर के आगे प्रतिस्थापन करने, मालधक्का तिराहा के पास स्थित देशी शराब दुकान को अन्यत्र स्थापित करने, शहर के फल ठेला-गुमटियों को पुराने मरीन ड्राइव में शिफ्ट करने के सुझाव ट्रैफिक डीएसपी श्री बघेल ने दिए। श्री बघेल ने नो पार्किंग जोन में खड़ी गाड़ी हटाने टोइंग व्हीकल, व्हील लॉक  की मांग रखी जिस पर कलेक्टर श्री सिंह ने मशीन उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।  इस पर संबंधित विभागों को त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश कलेक्टर श्री सिंह ने दिए।
बैठक में निगम कमिश्नर श्री एस.जयवर्धन, आरटीओ श्री सुमित अग्रवाल, एसडीएम श्री युगल किशोर उर्वशा सहित नेशनल हाइवे कार्यपालन अभियंता श्री धु्रव, पीडब्ल्यूडी कार्यपालन अभियंता श्री खांबरा सहित समिति के सदस्य अधिकारी व नागरिक उपस्थित थे।
शहर को जाम से निजात दिलाने दिए गए सुझाव
समिति की बैठक में शहर के पार्किंग के लिए भी सुझाव दिए गए। इसमें ओवरब्रिज के नीचे फ्लोरोसेंट पेंट से मार्किंग करने, निगम स्थित पार्किग का समतलीकरण करने, निर्धारित किए गए चारों पार्किंग ईतवारी बाजार, गांधीगंज, नगर पालिक निगम कार्यालय व एसपी काम्प्लेक्स पार्किंग संबंधित बड़े साइज में बोर्ड लगवाने, आवारा पशुओं को गोठनों में स्थानांतरित करने, नया मरीन ड्राइव के रोड डिवाइडर को हटाकर विद्युत पोल को किनारे में शिफ्ट करने, नया शनि मंदिर तिराहा एवं मिंज तिराहा के ढलान का सुधार करने व बोंदाकिटरा पुल में भारी वाहनों के आवाजाही पर रोक लगाने स्थाई बेरियर या पोल लगाने के सुझाव शामिल हैं।
सुरक्षित यातायात के लिए अपनाना होगा यह उपाए
बैठक में राष्ट्रीय व राजमार्ग में सुरक्षित यातायात के लिए अमलीभौना चपले बाइपास पर रिफ्लेक्टर पोल, रिफ्लेक्टर पट्टी, ब्लींचर, अस्थाई हाइट बेरियर, ब्लैक स्पॉट पाइंट छातामुड़ा चौक व कांशीराम चौक में रंबल स्ट्रीप गति अवरोधक व संकेत बोर्ड, किसी भी प्रकार के निर्माण कार्य को मुख्य मार्ग से अलग रखने की बात कही गई। इसी तरह दीर्घकालिक कार्रवाई में उदय टेलर तिराहा से सर्किट हाउस रोड तक पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था, ढि़मरापुर चौक से चिराईपानी बेरियर तक सड़क मरम्मत कार्य करने के सुझाव दिए गए।  ढिमरापुर चौक से आगे दोनों पुलिया के नवनिर्माण अथवा चौड़ीकरण, रायगढ़-अम्बिकापुर मार्ग का नवनिर्माण, मरम्मत, घरघोड़ा से धरमजयगढ़ मार्ग मरम्मत एवं सड़को में होने वाली मृत्यु दर कम करने ट्रॉमा सेंटर विकसित करनें के सुझाव दिए। इस पर कलेक्टर श्री सिंह ने संबंधित विभाग प्रमुख अधिकारियों को जल्द कार्रवाई पूर्ण कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।