रायगढ़ :-  स्कूलों का अच्छा रिजल्ट है शिक्षकों की जिम्मेदारी कलेक्टर भीम सिंह ने ली शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक

 | 
1

स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल शासन की महत्वपूर्ण योजना है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप स्कूलों के बेहतर संचालन के लिए सभी सुविधायें व संसाधन प्रशासन द्वारा उपलब्ध करायी जा रही है। स्कूल में बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराना और अच्छा रिजल्ट शिक्षकों की जिम्मेदारी है। सभी प्रिंसीपल इस बात का विशेष ध्यान रखें कि उनके विद्यालय के शिक्षक अपने विषय में दक्ष हो तथा इंग्लिश मीडियम के मापदंड के अनुरूप अध्यापन कार्य कराने में सक्षम हो। स्कूल के रिजल्ट से ही वहां की शिक्षा की गुणवत्ता मापी जाएगी। उक्त बातें कलेक्टर श्री भीम सिंह ने कलेक्टोरेट सभाकक्ष में शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में कही।
कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक में कहा कि स्कूलों में बच्चों को पढ़ाई के साथ ही उनका प्रेक्टिकल करायें एवं उन्हें खेल गतिविधियों से भी जोड़े। जो बच्चे अभी भी स्कूल में एडमिशन लेना चाहते है उन्हें एडमिशन जरूर दें। कलेक्टर श्री सिंह ने महतारी दुलार योजना के हितग्राही बच्चों का विशेष ध्यान रखने और उनके डे्रस एवं कापी-पुस्तक की भी उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। ऐसे बच्चों के पढ़ाई में विशेष फोकस करते हुये स्कूलों में उन्हें अच्छा वातावरण उपलब्ध करायें। दूरस्थ अंचल से स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ाई के लिए आने वाले बच्चों को ट्रायबल छात्रावास में रूकवाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि बीते दो सालों से कोविड की वजह से स्कूल बंद होने के कारण बच्चे ठीक ढंग से पढ़ाई नहीं कर पाये है, उनके लिए एक्स्ट्रा क्लास लगाते हुए पिछले साल का सिलेबस का भी उन्हें रिवीजन करायें। जिससे उनकी सभी विषयों में पकड़ मजबूत हो सके।
स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में बच्चों को मोटिवेट करते हुए उन्हें इंग्लिश स्पीकिंग करायें, उन्हें सामान्य ज्ञान की जानकारी दें, लाईब्रेरी में बैठाये और इंग्लिश पेपर पढ़ाये। बच्चों को आपस में अंग्रेजी में बात करने के लिए प्रेरित करें। जो बच्चे स्कूल नहीं आ रहे उन्हें ऑनलाईन पढ़ाई करायें। साथ ही ऐसे बच्चों को चिन्हांकित करें जो स्कूल नहीं आ रहे है और न ही ऑनलाईन पढ़ाई कर रहे है। जिससे उन्हें पढ़ाई से जोड़े रखने अतिरिक्त प्रयास किये जा सके। कलेक्टर श्री सिंह ने जिले में चल रहे ईजीएल एवं सीख कार्यक्रम के बारे में जानकारी ली। कलेक्टर श्री सिंह ने स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल भवन निर्माण की स्थिति की जानकारी ली तथा कार्य जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने सभी स्कूलों में शौचालयों की स्वच्छता पर विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए।
कलेक्टर  सिंह ने शिक्षा विभाग की बैठक में स्कूल में आने वाले टीचरों की नियमित उपस्थिति की जानकारी ली। उन्होंने जिले के सभी प्राचार्यों को निर्देशित करते हुये कहा कि जो टीचर लेट आते है, बिना बताये अनुपस्थित रहते है उन पर सख्त कार्यवाही की जाए। कौन शिक्षक छुट्टी में कितने दिन रहे, अटैचमेंट शिक्षक, एकल शिक्षक की जानकारी अगली बैठक तक अपडेट करनेे के निर्देश दिए। बैठक में सीईओ जिला पंचायत डॉ.रवि मित्तल, जिला शिक्षा अधिकारी श्री आर.पी.आदित्य, डीएमसी श्री रमेश देवांगन सहित सभी स्कूलों के प्राचार्य, शिक्षक व स्टॉफ उपस्थित रहे।
यूथ सेंटर में हो बच्चों के लिए कैरियर काऊंसिलिंग की सुविधा
कलेक्टर श्री सिंह ने जिले में संचालित यूथ सेंटर की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि ऐसे युवा जो एग्जाम की तैयारी करना चाहते है उनके लिए यूथ सेंटर में ज्ञानवर्धन किताबें, न्यूज पेपर, कम्प्यूटर के साथ नेट की उपलब्धता, फोटो कापी मशीन, रोजगार निर्माण पत्रिका रखेंं। प्राइवेट सेक्टर के लिए तैयारी करायें एवं हर महीने जिले में पदस्थ आईएएस, डिप्टी कलेक्टर रेंज के अधिकारी को बुलाकर बच्चों के लिए कैरियर काऊंसिलिंग कराते रहे।