रायगढ़  :-  सभी हाट-बाजार क्लिनिक का संचालन करें प्रारंभ

 | 
1

रायगढ जिले में चिन्हांकित सभी हाट-बाजार क्लिनिक का संचालन तत्काल प्रारंभ किया जाए। सभी एसडीएम उनके क्षेत्र अंतर्गत लगने वाले हाट-बाजार क्लिनिक की प्रति सप्ताह जांच कर साप्ताहिक प्रतिवेदन भेजे। उक्त बातें कलेक्टर श्री भीम सिंह ने आज समय-सीमा की बैठक के दौरान कही।
कलेक्टर श्री भीम सिंह ने कोविड के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लगातार मास्क जांच अभियान चलाने के निर्देश दिए। उन्होंने शादियों में अनुमति अनुसार लोगों के शामिल होने की जांच करने के निर्देश सभी एसडीएम को दिए। उन्होंने उद्योग अधिकारी को जिले के सभी उद्योगों का नियमित निरीक्षण करने और बाहर से आने वाले लोगों को गाइड लाइन अनुसार क्वारेंटीन करने और कोविड प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन सभी उद्योगों द्वारा सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने वैक्सीनेशन की समीक्षा की। उन्होंने उपलब्ध टीके के आधार पर टीकाकरण कार्य पूरी तेजी से करते रहने के निर्देश दिए।
कलेक्टर श्री सिंह ने सभी गौठानों में चारागाह निर्माण कार्य की समीक्षा की। उन्होंने 31 जुुलाई तक सभी चारागाहों में नेपियर घास का रोपण पूरा करने के निर्देश दिए। सभी चारागाहों में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश सभी जनपद सीईओ तथा ईई पीएचई को दिए। उन्होंने जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा सभी गौठानों का निरीक्षण करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गौठान में कार्यरत महिला समूहों का भुगतान जून माह तक कर दिया गया है। बैंक स्टेटमेंट के साथ ही समूहों को इसकी जानकारी देने के निर्देश सभी सीईओ जनपद को दिए। उन्होंने गौठानों में निर्माणाधीन मल्टी एक्टिविटी सेंटर का कार्य भी जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने गौठान में वर्मी उत्पादन की समीक्षा की। शहरी गौठान के लिये नियुक्त नोडल द्वारा कार्य में लापरवाही करने पर उन्हें शो-काज नोटिस देने के निर्देश दिए। उन्होंने शहरी गौठान के संचालन की नियमित मॉनिटरिंग करने के निर्देश नगर निगम आयुक्त श्री एस.जयवर्धन को दिए।
कलेक्टर श्री सिंह ने वन अधिकार पट्टा धारियों को स्वीकृत कार्य की विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने के लिए कहा। साथ ही जिन हितग्राहियों के भूमि समतलीकरण या अन्य कोई कार्य स्वीकृत नहीं हुए है, उनकी जानकारी विकासखण्डवार एकत्रित कर प्राथमिकता से कार्य स्वीकृत करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री सिंह ने राजस्व न्यायालय में 2 साल से अधिक समय से लंबित प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा की। उन्होंने किसान किताब समय पर उपलब्ध नहीं करवाने पर खरसिया के नायब तहसीलदार के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही के निर्देश दिए। उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों को 2 साल से अधिक समय से लंबित प्रकरणों का निराकरण 31 जुलाई के पूर्व करने के लिये कहा।
कलेक्टर श्री सिंह ने धान के बदले किसानों द्वारा अन्य फसल लगाए जाने की सहमति अनुसार लक्ष्य प्राप्ति की विकासखण्डवार समीक्षा की। उक्त कार्य के मॉनिटरिंग में लापरवाही के चलते रायगढ़ एसडीओ को शो-काज नोटिस देने के निर्देश दिए। उन्होंने अगले एक सप्ताह के भीतर सभी विकासखण्ड में शत-प्रतिशत लक्ष्य पूरा करने के लिए कहा। उन्होंने सभी एसडीएम को इसकी नियमित मॉनिटरिंग करने के लिए निर्देशित किया। कलेक्टर श्री जिले में बारिश की कमी वाले क्षेत्रों में लोगों को फसल बीमा करवाने हेतु प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। इसके लिये उन्होंने कृषि अधिकारी के साथ लीड बैंक मैनेजर को भी बैंकों से समन्वय करने के निर्देश दिए।
स्मार्ट फोन नहीं होने के कारण ऑनलाईन कक्षा में नहीं जुड़ पा रहे छात्रों के सहायतार्थ मोबाईल दान अभियान पुन: संचालित करने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए। इसके साथ ही उन्होंने उद्योग अधिकारी को इण्डस्ट्रीज से समन्वय कर छात्रों के लिये मोबाईल उपलब्ध करवाने के लिए कहा।
इस दौरान आयुक्त नगर निगम श्री एस.जयवर्धन, सीईओ जिला पंचायत डॉ.रवि मित्तल, डीएफओ धरमजयगढ़ श्री मणिवासगन एस, डीएफओ रायगढ़ डॉ.प्रणय मिश्र, अपर कलेक्टर श्री आर.ए.कुरूवंशी सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।